25% Off

820.00 615.00

In Stock

You Save 205 ( 25% )

Compare
Category:

Description

Suvarna Vasant Malati Benefits:-

स्वर्ण वसंत मालती रस के उपयोग 

☛ निर्बलता दूर करने वाली –
यह सब प्रकार की कमज़ोरी, धातुगत निर्बलता, रस क्षय के कारण शरीर का कमज़ोर और दुबला होना में लाभदायक है ।

☛ दिमागी कमज़ोरी में लाभदायक –
यह दिमागी कमज़ोरी व थकावट दूर करने के लिए यह योग गुणकारी है।

☛ बुखार की कमज़ोरी दूर करने में उपयोगी –
यह मन्दाग्नि, बुखार या पुराने बुखार के कारण आई कमज़ोरी के लिए यह योग बेहतरीन दवा है।

☛ यकृत विकार दूर करने वाली –
यह यकृत विकार, प्लीहावृद्धि को दूर करता है।

☛ प्रदर रोग में उपयोगी –
यह स्त्रियों को प्रदर रोग, मासिक धर्म की अनियमितता या गर्भ स्थिति के कारण आई कमज़ोरी दूर करने के लिए यह एक अव्यर्थ और प्रशस्त औषधि है।

☛ श्रेष्ठ बल्य औषधि –
यह वृद्धावस्था अधिक श्रम या किसी रोग के बाद आई कमज़ोरी को दूर करने के लिए यह योग श्रेष्ठ बल्य औषधि (Best General Tonic) है।

☛ सभी ऋतुओं मे सेवन करने योग्य –
किसी भी ऋतु में किसी भी जलवायु में, किसी भी देश में और किसी भी आयु में हर प्रकृति (तासीर) वाला इसे सेवन कर सकता है।

☛ पाचन क्रिया को शक्तिशाली बनाने वाली –
यह औषधि यकृत और प्लीहा की वृद्धि या शिथिलता दूर कर पाचन क्रिया को नियमित और शक्तिशाली बनाती है। यह इस औषधि का मुख्य कार्य है। यही कारण है कि इसका सेवन शुरू करते ही थोड़े ही दिनों में शरीर में शक्ति स्फूर्ति और उमंग का अनुभव होने लगता है।

☛ अनेक रोगों को दूर करने वाली औषधि –
अनुपान भेद से यह अनेक रोगों को दूर करने वाली औषधि है। जो समर्थ और धन सम्पन्न हों उन्हें इस औषधि का कम से कम ४० दिन तो सेवन करना ही चाहिए।

☛ रक्ताल्पता दूर करने करने में उपयोगी –
जिन तरुणी स्त्रियों को रक्तप्रदर या श्वेतप्रदर के कारण शरीर में कमज़ोरी या रक्ताल्पता हो गई हो उनके लिए तो यह योग अमृत के समान गुणकारी है।

☛ शरीर को स्थायी रूप से बनाये शक्तिशाली और मजबूत –
यह अन्य बलकारी औषधियों की तरह अस्थायी यानी थोड़े समय के लिए शरीर को ताक़त देने वाली औषधि नहीं है बल्कि स्थायी रूप से लम्बे समय तक शरीर को शक्तिशाली बनाये रखने वाली औषधि है।

☛ क्षय रोग में उपयोगी –
‘सर्व रोगे वसन्तः’ के अनुसार यह सब प्रकार के रोगों से होने वाली कमज़ोरी को दूर करने की क्षमता रखती है। यहां तक कि क्षय रोग (टी.बी.) की प्राथमिक अवस्था में सेवन करने से क्षय रोग और इस रोग से उत्पन्न क्षीणता को भी दूर कर देती है।

☛ धातुओं का पोषण कर शरीर को बनाये बलशाली –
रस से लेकर शुक्र धातु तक, सब धातुओं का पोषण करने वाली होने से शरीर को पुष्ट, सुडौल और बलशाली बनाने के साथ ही साथ धातुगत निर्बलता दूर करती है और प्राकृतिक ढंग से करती है।

 

 

Additional information

Weight 0.250 kg

1 review for Dhootapapeshwar Suvarna Vasant Malati ( 10tab )

  1. Cleveland Wal

    greatest article

Add a review

Your email address will not be published. Required fields are marked *