11% Off

Dhootapapeshwar Svarna Bhasma Standard Quality Suvarnakalpa Powder 1gm

12,936.00 11,642.00

In Stock

You Save 1294 ( 10% )

Compare
Category:

Description

Swarna bhasma benefits:-

आर्युवेद ने मनुष्य को कई ऐसी औषधियां दी हैं जो उसके लिए बहुत ही लाभकारी और उपयोगी साबित हुई है। वैसे तो हमने आपको बहुत सी ऐसी औषधियों के बारे में बताया है जो आपके लिए बहुत ही उपयोगी हैं उन्हीं में से आज हम आपको एक ऐसे तत्व स्वर्ण भस्म (Swarna Bhasma) के बारे में बताएंगे जो प्राचीन आयुर्वैदिक दवा में सबसे पहले स्थान पर आता है।

स्वर्ण भस्म के लाभ और उपयोग

स्वर्ण भस्म (Swarna bhasma) एक ऐसी आर्युवेदिक औषधि है जो शरीर में होने वाले कई गंभीर रोगों में लाभदायी होती है। इसका सेवन आपके शरीर को स्वस्थ्य बनाएं रखने में बहुत ही मददगार साबित होता है। यह औषधि कई रोगों के इलाज में रामबाण का काम करती हैं, लेकिन इसके अलावा भी कुछ ऐसी बीमारियां हैं जैसे आँख निकलना, मधुमेह, गठिया, अस्थमा आदि जिनमें स्वर्ण भस्म का इलाज अत्यंत लाभकारी माना जाता है।

ह्रदय रोग का स्वर्ण भस्म का उपयोग

स्वर्ण भस्म (Swarna bhasma) का उपयोग ह्रदय रोग में भी काफी लाभकारी है। इसके सेवन से ह्रदय और ह्रदय की मांसपेशियों को शक्ति मिलती है और जो दिल की पम्पिंग क्षमता को बढ़ाती है। साथ ही रक्तचाप को सामान्य रखने में मददगारी साबित होती है।

रक्त शुद्धि में स्वर्ण भस्म का उपयोग

शरीर में कई तरह के विषाक्त पदार्थ बनते हैं जिनकी वजह शरीर में हो रहा संक्रमण और अपच होता है। इन्हीं सब की वजह से शरीर कई तरह के रोगों से ग्रसित हो जाता है। स्वर्ण भस्म का सेवन करने से शरीर में उत्पन्न होने वाले विषाक्त पदार्थ दूर होते है, जिससे हमारा शरीर निरोग हो जाता है। स्वर्ण भस्म (Swarna bhasma) के सेवन से वात पित और कफ की समस्याओं को भी दूर करने में काफी सहायक और लाभदायी होता है।

त्वचा रोग में स्वर्ण भस्म के उपयोग

स्वर्ण भस्म को बनाने में प्रयोग किए गए खनिज लवण त्वचा संबंधी कई परेशानियों से भी निजात दिलाते हैंष जिनमें जीर्ण त्वचा रोग, सूजन, लालिमा, जलन और खुजली जैसी समस्याएं उत्पन्न होती है। इसके सेवन से इन सब रोगों से निजात तो मिलता ही है साथ में त्वचा में चमक और निखार भी आता है।

मानसिक रोग में स्वर्ण भस्म के उपयोग

स्वर्ण भस्म (Swarna bhasma) के सेवन से हमारी एकाग्रता और स्मृति में भी बढ़ोत्तरी होती है। यह कई मानसिक रोगों जैसे अल्जाइमर, पार्किसन्स जैसे रोगों से ठीक करने और उनको बढ़ने से रोकने में काफी कारगर साबित होती है। यह मस्तिष्त में होने वाली सूजन को भी कम करती है।

रोग प्रतिरोध क्षमता बढ़ाने में स्वर्ण भस्म का उपयोग

स्वर्ण भस्म में पाए जाने वाले खनिज लवण शरीर में रोग प्रतिरोध क्षमता को भी बढ़ाते हैं, जिससे हमारे शरीर में किसी भी तरह के वायरल संक्रमण के खिलाफ लड़ने की शक्ति प्रदान करते हैं। स्वर्ण भस्म कैंसर जैसी भयावह बीमारी के इलाज में भी काफी लाभकारी होता है।

आंख आने में स्वर्ण भस्म के उपयोग

आंखों में होने वाले किसी तरह के संक्रमण जैसे आंख आना, आंखों में खुजला, जलन होना, सूजन आना इस तरह के रोगों के उपचार में भी स्वर्ण भस्म काफी फायदेमंद साबित होती है।

मधुमेह रोग और पौरूष रोगों में स्वर्ण भस्म के उपयोग

स्वर्ण भस्म (Swarna bhasma) का उपयोग मधुमेह जैसे रोग से लड़ने में भी काफी कारगारी साबित हुआ है, साथ ही मधुमेह के कारण पुरूषों में आई शारीरिक शक्ति में हुई कमी को भी दूर करता है। इसके साथ ही पुरूषों में शीघ्रपतन, शिथिलता जैसी परेशानियों में भी स्वर्ण भस्म का उपचार काफी लोकप्रिय है। मधुमेह जैसे रोग में शरीर की नसें काफी कमजोर हो जाती हैं, इस मामले में भी स्वर्ण भस्म के बहुत अच्छे परिणाम देखने को मिलते हैं।

बांझपन दूर करने में स्वर्ण भस्म का उपयोग

स्वर्ण भस्म में उपयोग किए गए खनिज महिलाओं में होने वाली  अन्य परेशानियों के साथ बांझपन जैसी समस्याओं को दूर करने में भी काफी लाभदायी होते हैं।

Additional information

Weight 0.250 kg

Reviews

There are no reviews yet.

Be the first to review “Dhootapapeshwar Svarna Bhasma Standard Quality Suvarnakalpa Powder 1gm”

Your email address will not be published. Required fields are marked *